Latest News

Thursday, 15 December 2016

loading...

अभी-अभी: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- दोबारा चलेंगे पुराने नोट, पुरे देश में सन्नाटा

देशभर में नोटबंदी से हो रही परेशानी आज खत्म होती नजर आई जब देश की सर्वोच्च अदालत ने मामले पर बड़ा बयान दिया। अदालत ने सरकार से जवाब माँगा की नोटबंदी से क्या हासिल हुआ, कोर्ट ने सरकार से जवाब माँगा है नही तो नोटबंदी का फैसला ख़ारिज किया जायेगा 




कोर्ट ने ने कहा कि पुराने नोट दोबारा चलते रहेंगे। जी हां 500 के पुराने नोट कुछ दिन और जारी रखने के लिए सुप्रीम कोर्ट ऑर्डर्स जारी कर सकता है। इसके लिए एक पिटीशन दायर की गई है। जिस पर सुप्रीम  कोर्ट ने कहा है कि यदि केंद्र सरकार हलफनामा दायर नहीं करती है तो नोट दोबारा चल सकते हैं।

मोदी सरकार ने 8 नवंबर को 500-1000 के पुराने नोट बंद करने का एलान किया था। सरकार ने चुनिंदा जगहों पर 500 के पुराने नोट जारी रखने की बात भी कही थी। 15 दिसंबर से पुराना नोट हर जगह से बंद कर दिया गया।

 500 के पुराने नोट कुछ दिन और जारी रखने के लिए सुप्रीम कोर्ट ऑर्डर्स जारी कर सकता है। इसके लिए एक पिटीशन दायर की गई है। मोदी सरकार ने 8 नवंबर को 500-1000 के पुराने नोट बंद करने का एलान किया था।

सरकार ने चुनिंदा जगहों पर 500 के पुराने नोट जारी रखने की बात भी कही थी। 15 दिसंबर से पुराना नोट हर जगह से बंद कर दिया गया।

वहीं सरकार ने पुराने नोटों को बिल्कुल बंद कर दिया है। जहां-जहां आज ये बंद हुए हैं उनमें दवा की दुकानें, सरकारी अस्पताल, बिजली, पानी के बिल, टोल बूथ, एलपीजी एजेंसी शामिल है।

इसके अलावा पुराने नोट से अब मोबाइल फोन रिचार्ज की सुविधा भी नहीं रहेगी। श्मशान, कब्रिस्तान, सहकारी भंडार से 5 हजार रुपये तक का सामान, मिल्क बूथ और कोर्ट फीस, सरकारी दुकानों से बीज भी पुराने नोटों से नहीं खरीदे जा सकेंगे।

सरकारी स्कूलों की 2 हजार रुपये तक की फीस, सरकारी कॉलेजों की फीस भी पुराने नोटों से नहीं भरी जा सकेगी। पुराने नोट अब 30 दिसंबर तक बैंकों में और 31 मार्च तक आरबीआई की शाखाओं में जमा कराए जा सकेंगे।


इस बात को सरकार भी जानती है कि कल से 500 के पुराने नोट बंद होते ही और कोहराम मच जाएगा। लिहाजा सरकार ने उम्मीद जताई है कि अगले दो तीन हफ्तों में कैश की किल्लत से देश को राहत मिलेगी। आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांता दास ने बताया कि सरकार का जोर अब 500 के नए नोट छापने पर है। शक्तिकांता दास का ये भी कहना है कि नोटबंदी के बाद 80 हजार करोड़ के नए 100 रुपये के नोट बाजार में आए हैं, इसके अलावा 10, 20 और 50 रुपये के नोट भी कोई कमी नहीं है।

No comments:

Post a Comment