Latest News

Monday, 21 November 2016

loading...

शर्मनाक: भाई की तेरहवीं के लिए पैसे निकालने गया था फौजी, पुलिस ने बेरहमी से पीटा, ये थी वजह

लियर। नोटबंदी के बाद से नए नोट पाने के लिए कतारों की लंबाई शहरों में तो घट गई है, लेकिन कस्बों में अब भी लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। इस दौरान बैंक या पुलिसकर्मी परिचितों को लाभ पहुंचा रहे हैं। सोमवार को लाइन में लगे एक फौजी ने पुलिस की ऐसी ही कोशिश का विरोध किया, तो पुलिस ने उसकी पिटाई कर दी।

- मुरैना के अंबाह कस्बे में SBI से पैसे निकालने आए फौजी दिनेश की तैनात पुलिसकर्मी से बहस हो गई।
- बैंक के सामने पैसे निकालने के लिए लोगों की लंबी कतार लगी थी।
- जैसे ही फौजी की बारी आई वहां तैनात पुलिसकर्मी ने अपने किसी मित्र को बगैर लाइन में लगाए फौजी के आगे खड़ा कर दिया।
- फौजी ने इसका विरोध किया तो पुलिसकर्मी एसडी मिश्रा और थाना प्रभारी ने उसके साथ मारपीट कर दी।
- भीड़ ने बताया कि फौजी के भाई का पिछले हफ्ते निधन हो गया था, फौजी उन्हीं की तेरहवीं के लिए सामान खरीदने के लिए पैसे निकालने आया था।
- फौजी कि बिना कारण पिटाई से भीड़ आक्रोश में आ गई, और पुलिस बड़ी मुश्किल से हालात संभाल पाई। भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस ने लाठियां भी चलाईं।
- इस मामले में शिकायत करने गए फौजी की पुलिस व जिला प्रशासन के अफसरों ने कोई सुनवाई नहीं की।

- आखिरकार भाई की मौत से पहले से दुखी फौजी बिना कारण पिटने की टीस लिए अपने गांव वापस लौट गया।

No comments:

Post a Comment