Latest News

Thursday, 27 October 2016

loading...

BIG-NEWS: चीनी उत्पादों के बहिष्कार से बौखलाया चीन, भारत माता को दी गाली...पढ़े पूरी खबर...

चीनी उत्पादों के लिए भारत सबसे बड़ा बाजार है। चीन कि अर्थव्यवस्ता भारत पर टिकी हुई है लेकिन चीन हमेसा ही भारत के विरोध में रहा है। भारत कि सयुंक्त राष्ट्र संघ में स्थयी सदस्यता में भी चीन ही सबसे बड़ा रोड़ा है। चीनी इलेक्ट्रिक और गजेट्स उत्पाद और एसेसरीज का भारत बड़ा बाजार है।  भारतीय सोशल मीडिया पर चीनी उत्पादों के बहिष्कार की अपीलों के मद्देनजर चीनी मीडिया ने भारत पर अपनी भड़ास निकाली है, इतना ही नहीं चीनी मीडिया ने अपने लेखों में भारत के खिलाफ गालियों तक का प्रयोग कर डाला। चीन ने कहा था कि हमारे उत्पाद से ही इंडिया चलता है और इसी भ्रम के चलते चीन ने भारतीय युवाओ को निकम्मा, नाकारा बताया था। लेकिन भारतीय युवा शक्ति से पूरी दुनिया भय खाती है, और चीन का भ्रम भी टूट गया सिर्फ 10 दिन कि मुहीम से ही चीन कि अर्थव्यवस्था रोड पर आ गयी।


अगर हमने चीनी उत्पादों का पूर्ण रूप से बहिस्कार कर दिया तो चीन भारत के घुटनों पर होगा। हमारे पूर्वजो ने भारत को अन्रेजो से आजादी दिलाई थी तो क्या हम भारत को चीनी उत्पादों से आजाद करवाकर हमारे कामगारों को रोजगार नही दे सकते। हमारी मेहनत का पैसा हमारे देश के मजदूरो को नही दे सकते। एक छोटी सी मुहीम से चीनी उत्पादों कि खरीद में 47% कमी आई है और बाजार में दिवाली पर मिटटी के दिए बेचने वालो के चेहरों पर ख़ुशी देखते ही बनती है

चीन की सरकारी मीडिया ने बुधवार को कहा कि भारतीय सोशल मीडिया पर चीन में बने सामान के बहिष्कार के लिए किया गया आह्वान भडक़ाऊ है, क्योंकि भारतीय उत्पाद चीन के उत्पादों के मुकाबले में टिक नहीं सकते। ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित एक तीखे लेख में भारत पर जमकर निशाना साधा गया है। इसमें कहा गया है कि भारत केवल भौंक सकता है, दोनों देशों के बढ़ते व्यापार घाटे के बारे में कुछ कर नहीं सकता।

पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित कराने के भारत के प्रयासों के चीन के लगातार विरोध ने कई भारतीयों का नाराज कर दिया है। ऐसे लोगों ने चीनी उत्पादों के बहिष्कार का आह्वान किया है। अखबार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मनपसंद परियोजना मेक इन इंडिया को अव्यावहारिक करार दिया है।

देश के हर नागरिक से आग्रह है कि ज्यादा से ज्यादा स्वदेसी वस्तुओ का उपयोग करे। अपनी मेहनत का पैसा अपने देश के कामगारों को दे जिससे हमारे देश कि बेरोजगारी कम होगी व अर्थव्यवस्था में सुधार होगा। इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करे आपका एक शेयर किसी मासूम के चेहरे पर ख़ुशी ला सकता है। अपने देश के प्रति अपनी जिमेदारी निभाए। जय हिन्द जय भारत...


No comments:

Post a Comment