Latest News

Thursday, 29 September 2016

loading...

आर्मी का बड़ा खुलासा: कल रात LoC पर भारत ने किया सर्जिकल स्ट्राइक, 50 आतंकी मार गिराए

नई दिल्ली/ इस्लामाबाद.उड़ी हमले के बाद लाइन ऑफ कंट्रोल (Loc) पर बने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव के मद्देनजर पीएम मोदी कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्युरिटी (सीसीएस) की हैं। इसके बाद डीजीएमओ ने क्या कहा- ''मजबूत इन्फॉर्मेशन के आधार पर हमें पता लगा है कि कुछ आतंकी एलओसी पर मौजूद हैं। उनका मकसद भारत में घुसपैठ कर आतंकी हमलों को अंजाम देना है। इंडियन आर्मी ने वहां कल रात सर्जिकल स्ट्राइक किया था। हमने सुनिश्चित किया था कि ये आतंकी अपने मंसूबों में कामयाब न हों। काउंटर ऑपरेशंस में काफी नुकसान पहुंचा है। आतंकियों को नेस्तनाबूद करने का यह ऑपरेशन अभी रुका हुआ है। इसे दोबारा चलाने का अभी कोई प्लान नहीं है।'' पाक को बता दिया की हमने किया सर्जिकल स्ट्राइक..

- आर्मी ने कहा- इंडियन आर्मी किसी भी आपात मैंने अभी पाक के डीजीएमओ से बात की और उन्हें भी कल रात हुए सर्जिकल ऑपरेशन के बारे में बता दिया है।
- भारत इस क्षेत्र में अमन चाहता है। लेकिन हम नहीं चाहते कि एलओसी पर खतरा पैदा हो और हमारे देश के लोगों की जान खतरे में पड़े।
- पाक जनवरी 2004 के अपने वादे पर कायम रहे। हम उम्मीद करते हैं कि पाक आर्मी हमारे साथ कोऑपरेट करेगी और इस रीजन से आतंकवाद का खात्मा करने की दिशा में मदद करेगी।
पिछले साल हुई थी 44 साल में सबसे भारी फायरिंग...
- एलओसी पर बुधवार रात फिर सीजफायर वॉयलेशन हुआ। फायरिंग में पाकिस्तान के दो जवान मारे गए हैं। यह दावा पाकिस्तान के इंटर सर्विसेस पब्लिक रिलेशन्स ने किया है। यह फायरिंग रात करीब ढाई बजे से सुबह 8 बजे तक हुई।
- पिछले साल अगस्त के बाद पाकिस्तान की भारी फायरिंग के कारण एलओसी के आसपास के गांवों के 32 हजार लोगों को अपना घर छोड़कर जाना पड़ा था।
- 1971 के बाद यह पहला मौका था, जब बॉर्डर और एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से इतनी ज्यादा फायरिंग हुई थी।
क्या है इंटरनेशनल बॉर्डर और एलओसी?
- पाकिस्तान से सटा इंटरनेशनल बॉर्डर 2313 किलोमीटर लंबा है। वहीं, जम्मू-कश्मीर में एलओसी 772 किलामीटर लंबी है।
- इंटरनेशनल बॉर्डर को बीएसएफ गार्ड करती है, जबकि एलओसी की हिफाजत आर्मी करती है। पाकिस्तान इंटरनेशनल बॉर्डर पर बीएसएफ की चौकियों को ज्यादा निशाना बनाता है।
कब हुआ था सीजफायर एग्रीमेंट?
- भारत-पाकिस्तान के बीच सीजफायर एग्रीमेंट नवंबर 2003 में हुआ था। दोनों देशों के बीच यह तय हुआ था कि बॉर्डर और एलओसी पर फायरिंग नहीं होगी। लेकिन पाकिस्तान ने हर साल कई-कई बार सीजफायर तोड़ा है।

- इससे पहले 1949 में कराची एग्रीमेंट के बाद सीजफायर लागू हुआ था। बाद में, वाजपेयी सरकार के वक्त 2003 में दोबारा सीजफायर लागू हुआ। 

No comments:

Post a Comment