Latest News

Friday, 30 September 2016

loading...

ये क्या! इसके भी है बड़े फायदे, पढ़े पूरी खबर...

बेशक पुरातनपंथी इसे खुद के साथ छेड़छाड़ और कई शारीरिक, मानसिक बीमारियों की वजह मानते हो। लेकिन इसे एक्सपर्ट्स ने 19वीं शताब्दी की नैतिकता और मेडिकल साइंस के मामले में सबसे बड़ा ढोंग करार दिया है। इसमें कोई शक नहीं है कि हस्तमैथुन से उन्माद निकलता है। अब साइंस और सांस्कृतिक नजरियों में हस्तमैथुन को लेकर बदलाव आया है। हालांकि इस बदलाव के आने में कई सैकड़ों साल लग गए। रिसर्च के मुताबिक 38 प्रतिशत महिलाएं और 61 फीसदी पुरुष हस्तमैथुन करते हैं।

    
मई का महीना दुनिया भर में इंटरनेशनल मास्टर्बेशन मंथ के रूप से जाना जाता है। जिससे लोग अब तक वर्जना और शर्मिंदगी महसूस करते थे उसे उत्सव के रूप में मनाया जाता है। इससे यह भी साबित हो रहा है कि कैसे हमारा समाज पुरातनपंथी सोच से बाहर निकल रहा है। आज हम आपको हस्तमैथुन से फायदे के बारे में बता रहे हैं:
   
1) डिप्रेशन से बचाव
रिसर्च के मुताबिक ऑर्गेजम से इन्डॉर्फिन्स बढ़ता है और यह हमें डिप्रेशन से बचाता है।
   
2) सर्वाइकल कैंसर से हम बच सकते हैं
रिसर्च के मुताबिक फीमेल हस्तमैथुन में सर्वाइकल इन्फेक्शन से राहत मिलती है। रेग्युलर ऑर्गेजम से गर्भाशय पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
   
3) आत्मविश्वास में योगदान
एक्सपर्ट्स का कहना है कि जो हस्तमैथुन को लेकर सहज होते हैं वे अपने शरीर और सेक्शुअलिटी को लेकर भी कम्फर्ट होते हैं।
   
4) नींद में मदद
ऑर्गेजम से ब्लड प्रेशर लो होता है और इससे इन्डॉर्फिन्स को राहत मिलती है। इसके बाद इंसान को शांति से नींद आती है।
    
5) मासिक धर्म ऐंठन से राहत
कई महिलाओं का कहना है कि पिरीअड्स के दौरान हस्तमैथुन से दर्द कम होता है।
  
6) प्रॉस्टेट कैंसर का रिस्क कम 
हाल ही में अमेरिकन यूरोलॉॉजिकल वार्षिक मीटिंग में कहा गया कि जो कम से कम मंथली हस्तमैथुन करते हैं उनमें प्रॉस्टेट कैंसर की आशंका कम होती है।
    
7) एसडीटी से मुक्ति
यूके में 5 लाख के करीब लोग सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजिज से पीड़ित हैं। इसके एचआईवी के मामलों में बढ़ोतरी होती है। ऐसे में हस्तमैथुन एक अच्छा जरिया है।


No comments:

Post a Comment